ऑस्ट्रेलिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीसरा टी-20 मैच -ऑस्ट्रलिया ने क्लीन स्वीप होने से बचाया

ऑस्ट्रेलिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीसरा टी-20  मैच

ऑस्ट्रेलिया  ने 3 टी-20 की सीरीज के आखिरी मुकाबले में भारत को 12 से मात दी।  और इस जीत के साथ ऑस्ट्रलिया ने खुद को क्लीन स्वीप होने से बचाया।  और भारत ने इस टी-20  सीरीज को जीत कर लगातार 5 बार टी-२० सीरीज में कब्जा किया।  



स्कोरबोर्ड देखे 

क्रिकेट की खबरे 

भारत ने टॉस जीता और ऑस्ट्रेलिया को बल्लेबाजी के लिए न्योता 

भारत ने पिछले मैच  की तरह इस मैच में भी टॉस जीता और ऑस्ट्रलिया को बल्लेबाजी का पहले मौका दिया लेकिन इस बार भारत रन का पीछा करके जितने में सफल नहीं हुआ।  ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत को 187 रन का टारगेट दिया लेकिन भारत 174 रन ही बना पायी 7 विकेट गवा कर। 

ऑस्ट्रेलिया कप्तान फिंच बिना खाता  खोले पोवलियन लोटे 

आज के मैच में ऑस्ट्रेलिया कप्तान खेले और ओपनिंग करने आये लेकिन सूंदर की गेंद पर पंड्या को कैच दे बैठे और बिना खाता खोले पॅवेलियन लोटे उसके बाद वेड का साथ देने आये स्मिथ और स्मिथ ने 23 गेंद पर 24 रन बनाये और सूंदर  गेंद पर बोल्ड हुए। 

भारत और ऑस्ट्रलिया का पहला टी-20  मैच 

भारत और ऑस्ट्रलिया का दूसरा  टी-20  मैच 

वेड और   मैक्सवेल ने बनाई फिफ्टी 

वेड ने 53 गेंद पर 80 रन बनाये और ठाकुर ने उन्हें एलबीडबल्यू आउट किया और इसी बीच में कोहली और वेड  में डिसिजन रिव्यू सिस्टम (DRS) को लेकर विवाद हो गया। ऑस्ट्रेलिया की पारी के 11वें ओवर में भारतीय कप्तान विराट कोहली के रिव्यू को टीवी अंपायर ने अमान्य करार दिया। अधिकारियों के मुताबिक, कोहली ने स्टेडियम में लगी स्क्रीन पर रीप्ले देखने के बाद रिव्यू लेने का फैसला किया। इसलिए टीवी अंपायर ने इसे मानने से इनकार कर दिया। दरअसल, यह ओवर नटराजन का था। ओवर की आखिरी बॉल स्ट्राइक पर मौजूद मैथ्यू वेड के पैड पर लगी थी। बॉलर और विकेटकीपर राहुल ने अपील भी की, लेकिन अंपायर ने नॉटआउट करार दिया। इसके बाद कप्तान कोहली ने रिव्यू लिया। टीवी अंपायर ने रिव्यू शुरू भी कर दिया था। इसका मैथ्यू वेड ने विरोध भी किया था। उन्होंने दावा किया था कि DRS लेने के लिए 13 सेकंड समय खत्म हो गया था। रिव्यू रद्द होने के बाद कोहली ने इस बारे में फील्ड अंपायर से बात भी की। हालांकि, बाद में रिप्ले में वेड आउट दिखाए गए थे। मैक्सवेल ने 36 गेंद पर 54 रन बनाये और उन्हें नटराजन ने बोल्ड किया और इस मैच में भारत ने मैक्सवेल को तीन जीवनदान दिए जिसका खामियाजा भारत को हार  भुगतना पड़ा। 

भारतीय टीम के लिए वॉशिंगटन सुंदर ने 2 विकेट लिए, जबकि टी नटराजन और शार्दूल ठाकुर को 1-1 सफलता मिली।

भारत की ओपनिंग फिर विफल 

ओपनिंग करने आये राहुल और धवन स्ट्राइक पर राहुल थे और ऑस्ट्रेलिया ने पहला ओवर मैक्सवेल से कराया जिसका फायदा ऑस्ट्रेलिया मिला और राहुल दूसरी गेंद पर बिना खता खोले हुए स्मिथ को कैच दे बैठे।  इसके बाद कोहली और धवन ने 74 रन की पार्टनरशिप की और धवन 28 बनाकर आउट हुए। 

कोहली की एक और फिफ्टी और दो जीवनदान भी लेकिन फायदा नहीं उठा पाए 

भारतीय टीम के लिए कप्तान विराट कोहली ने 61 बॉल पर सबसे ज्यादा 85 रन की पारी खेली। यह उनके टी-20 करियर की 25वीं फिफ्टी रही। कोहली को इस मैच में दो जीवनदान भी मिले लेकिन उसका फायदा उठा को भारत को जिताने में कामयाब नहीं हुए।  पहला कैच स्मिथ ने छोड़ा जब कोहली 9 रन पर थे उसके बाद टॉय ने अपनी ही गेंद पर खुद कैच छोड़ा दिया ये कैच आसान नहीं था उस समय कोहली 19 के स्कोर पर थे। 

अय्यर और सेमसन इस  मैच में भी रहे विफल 

संजू सेमसन 10 बनाकर आउट हुए और फिर आये अय्यर और पहली ही गेंद पर बिना खता खोले ही   स्वेप्सन की गेंद पर एलबीडबल्यू हो गए इस मैच में दोनों से उम्मीद थी भारतीय टीम और फंस को। 

पंड्या ने कोशिश की और ठाकुर ने कमाल 

पिछले मैच की हीरो रहे पंड्या ने भारत को जिताने की कोशिश की  लेकिन वह कामयाब नहीं हुआ और ज़म्पा की गेंद पर बड़ा शॉट मरने  चक्कर में कैच दे बैठा और आखिरी में आये ठाकुर उसने नाबाद 7 पर 17 रन बनाये जिसमे दो छक्के शामिल थे।  भले ही भारत मैच हार गया लेकिन ठाकुर को देखर ऐसा लगा जैसे भारत को एक और आलराउंडर मिल गया है। 

ऑस्ट्रेलिया की तरफ से स्वेप्सन ने 3 विकेट लिए और मैक्सवेल , अबॉट, टॉय और ज़म्पा ने 1 एक विकेट लिए। 

स्वेप्सन मैन ऑफ़ प्लेयर चुने गए 

पंड्या मैन ऑफ़ सीरीज चुने गए 

भारत 2008 से ऑस्ट्रेलिया में टी-20 सीरीज नहीं हारा

10 टी-20 में पहली बार चेज करते हुए हारा भारत

आप अपने ब्लॉग पर क्रिकेट की खबरे और मजेदार छोटी कहानिया और अन्य  बाते भी पढ़ सकते है। आपका अपना ब्लॉग WWW.IDEALJAAT.COM



आज के दिन 2011 में सेहवाग ने डबल शतक मारा था वेस्टइंडीज की खिलाफ और वह दूसरे बल्लेबाज थे डबल शतक बनाने वाले वनडे मैच में और उन्हें आज  उन्हें आज भी याद किया जाता है। 

धन्यवाद 

आपका नवी 

Comments