Skip to main content

Posts

Showing posts from October, 2020

जिम्बाब्वे और पाकिस्तान का पहला मैच

  जिम्बाब्वे की टीम पाकिस्तान के दौरे पर गयी है, वहाँ पर इनके 3 वन डे मैच और 3 20-20 मैच खेलेंगे।  आज पाकिस्तान के रावलपिंडी मे दोनो के बीच पहला मैच खेला गया। इस मैच मे पाकिस्तान ने 26 रन से जीत हासिल की। पाकिस्तान ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी का निर्णय लिया। हरीश रऊफ ने आज पहला इंटरनेशनल मैच खेला। पाकिस्तान की कप्तानी की डोर Babar Azam ने समभाली। और Zimbabwe की कप्तानी Chamu Chibhabha ने सम्भाले। पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर मे 8 विकेट गंवाने के बाद 281 रन बनाए। पहली विकेट Abid Ali की गिरी जब पाकिस्तान के रन 47 थे, उनके आउट होने के बाद कप्तान Babar Azam आए पर वह भी जल्दी आउट हो गए, फिर Harish Sohail आए और उन्होंने पाकिस्तान की पारी को सम्भाला और 71 रन बनाय और आखिरी मे Imam Wasid ने नाबाद 26 गेंदों पर 34 रन बनाए जिसमें 2 six और 1 चौका शामिल था। Zimbabwe की तरफ से सफल बोलिंग Muzarabani ने की 9 ओवर मे 39 रन देकर 2 विकेट ली। Zimbabwe की टीम 282 रन का लक्ष्य पूरा करने के लिए उतरी लेकिन 49.4 ओवर मे पूरी टीम आउट हो गयीं और Zimbabwe बस 255 रन ही बना पाए। Zimbabwe की शुरुआत अच्

Depression symptoms and measures

  What is depression? Preface: A few years ago, India's largest Neuro Science Institute conducted a survey to get an idea of ​​which is the most common mental disease in India! He got the answer "Depression" Sometimes in life it is normal to feel lonely, but when these feelings of loneliness persist for a long time and do not leave you, then it can be depression. In such a situation, life seems to be very dull and empty, in such a situation neither family nor friends feel good nor does any other work seem like life seems empty, and positive things also seem negative.  If this happens to you too, there is no need to panic. It is necessary to understand the symptoms and causes of depression and then treat it. We all have ups and downs in our lives, sometimes we get very happy when we get success, sometimes we get sad when we fail, sometimes people give even small grief the name of depression, which is totally wrong. Is, depression is very different from being depressed, le

Depression (अवसाद ) के लक्ष्ण और उपाय

What is depression? /  अवसाद क्या है?   प्रस्तावना : पिछले कुछ साल पहले भारत  कि सबसे बड़ी न्यूरो साइंस इंस्टिट्यूट ने एक सर्वे की ,ताकि उन्हें एक अंदाजा हो कि हिंदुस्तान में सबसे आम मानसिक रोग कौनसी है! उनको जवाब मिला था “ Depression “  (अवसाद )! जीवन में कभी-कभार खुद को अकेला महसूस करना एक सामान्य बात है, लेकिन जब ये अकेलेपन का एहसास बहुत समय तक बना रहे और आपका साथ ना छोड़े तो ये depression या अवसाद हो सकता है. ऐसे में जीवन  बड़ा नीरस और खाली-खाली सा लगने लगता है, ऐसे में ना परिवार वाले और ना ही दोस्त अच्छे लगते हैं और ना ही किसी और काम में मन लगता है जिंदगी खाली खाली लगने लगती है और positive बातें भी negative लगने लगती हैं! यदि आपके साथ भी ऐसा होता है तो घबराने की ज़रुरत नहीं है. ज़रुरत है depression के symptoms और कारणों को समझने की और फिर उसका इलाज करने की! हम सभी के जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं, कभी सफलता मिलने पर बहुत ख़ुशी मिलती है तो कभी असफल होने पर दुखी हो जाते  है,  कई बार लोग छोटे-मोटे दुःख को भी depression का नाम दे देते हैं, जो कि बिलकुल गलत है, Depres

एलर्जी

दोस्तों आज हम यहां बात करेंगे एलर्जी की और उसके द्वारा दिखने वाले लक्षणों की, आजकल हर दूसरा व्यक्ति इस बीमारी से परेशान है, और इसका सीधा संबंध हमारे आस पास के वातावरण से है!! एलर्जी क्या है? एलर्जी एक प्रकार से त्वचा की प्रतिक्रिया होती है, जो आम तौर पर किसी विशेष भोजन, कपड़े या ड्रग्स आदि जैसे पदार्थों के खिलाफ अपना रिएक्शन देती है। एलर्जी उत्पन्न करने वाले पदार्थ एलर्जन होते हैं, जो शरीर से बाहर की वस्तुओं से बनते हैं। एलर्जी बहुत आम होती हैं, विशेष रूप से बच्चों में। कुछ बच्चों में उनके बड़े होने के साथ-साथ उनकी एलर्जी भी गायब हो जाती हैं, लेकिन कुछ बच्चों में यह लंबे समय तक रह सकती है। लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है कि एलर्जी बचपन में ही शुरू होती हैं। वयस्कों में उन चीजों से भी एलर्जी होने लग सकती है जिनसे उन्हें पहले एलर्जी नहीं थी। एलर्जी एक ऐसी परेशानी बन सकती है, जो रोजाना की गतिविधियों में प्रभाव डालती है, हालांकि ज्यादातर एलर्जी के मामले हल्के ही होते हैं, जिनको पूरी तरह से नियंत्रण में रखा जा सकता है। गंभीर एलर्जी के मामले बहुत आम बात नहीं हैं, लेकिन फिर भी उनके प्रति सचेत रहन

परिवार का महत्व

  परिवार का परिचय  परिवार क्या होता है, परिवार कैसे बनता है, ये हम सब जानते है फिर भी अगर सरल शब्दों में समझे तो एक छत के नीचे रहने वाला व्यक्तियों का समूह जो आपस में अनुवांशिक गुणों को संचरित करते हैं परिवार के संज्ञा के अंतर्गत आते हैं ! इसके अलावा विवाह पश्चात या किसी बच्चे को गोद लेने पर वे परिवार का सदस्य हो जाते हैं। समाज में पहचान परिवार के माध्यम से मिलती है इसलिए हर मायने में व्यक्ति के लिए उसका परिवार सर्वाधिक महत्वपूर्ण है ! हर समाज के अपने अलग  अलग नियम और परम्पराये होती है लेकिन हर समाज की मौलिक , प्राथमिक और जरूरी इकाई परिवार ही  होता है ! बिना परिवार के समाज की कल्पना करना  एक सपना जैसे होता है !    आप इस में अपने  परिवार की यादो  को कैद करे , आज ही परिवार के प्रकार  हम  सभी  जानते है की परिवार दो प्रकार के होते है पहला मूल परिवार और दूसरा सयुक्त परिवार ! मूल परिवार -  मूल परिवार  देखा जाये तो पश्चिमी सभ्यता की देन है, जिसमे पति पत्नी अपने माता पिता से अलग रहते है और उसमे उनके होने वाले बच्चे सम्मिलित हो जाते है , और आज विश्वभर में मूल परिवार का चलन चल रहा है ! सयुंक्त